Thursday, August 15, 2013

शायरी - है मोहब्बत के सिवा और चारा क्या ?!

ग़मों का है कोई किनारा क्या ?
है उम्मीदों के बिना गुज़ारा क्या ?!

फूलों की खुशबू, बच्चों की मुस्कुराहट,
उम्मीदों को चाहिए और  सहारा क्या ?!

बिना आपके हमारा गुज़ारा क्या ?
करियेगा हमसे दोस्ती दुबारा  क्या ?!

जब दिल मिले, गिले शिकवे सब दूर हुए,
सब एक हुआ, उसका क्या, हमारा क्या ?!

दौरे-नफ़रत, जाते जाते ,  ये कह गया 'मजाल',
"है मोहब्बत के सिवा  और  चारा क्या ?!" 

Wednesday, May 29, 2013

SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन ) - Part 1

पिछले  कुछ सालों से दोस्त लोगों के साथ SEO (सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन ) के प्रयोग कर रहें है तो सोचा  , उसके अनुभव   आप लोगों के साथ भी साँझा  किये जाएँ :)

video


Monday, May 27, 2013

बाल-कविता : एक दो तीन चार .. !

बहुत दिनों से ड्राफ्ट में पड़ी हुई थी तो सोचा इसी से बिस्मिल्लाह किया जाए :)

१ २ ३ ४
शुरू हुई गिनती, राजकुमार !

५ ६ ७ ८
ग़म को मारो, जोर से लात !

९ १० ११ १२
तू मेरा प्यारा, राजदुलारा !

१३ १४ १५ १६
बता क्या था, मैंने बोला ?

१७ १८ १९ २०
और उस के, बाद इक्कीस !

२१ २२ २३ २४
शोर को अंग्रेजी  में noise !

२५ २६ २७ २८
बातें  करना nice nice   !


२९ ३० ३१ ३२
करते रहना हरदम कोशिश !

३३ ३४ ३५ ३६
पहलवान करता, रोज है वर्जिश !

३७ ३८ ३९ ४०
तगड़े  होगे, करना मालिश !

४१ ४२ ४३ ४४
चमकाओ  जूतें, करके पौलिश !

४५ ४६ ४७ ४८
कितनी अच्छी, होती बारिश !

४९ ५० ५१ ५२
राम ने वध किया था रावण !

५३ ५४ ५५ ५६
कितना प्यरा, होता बचपन !

५७ ५८ ५९ ६०
ख़ुशी से देना, जीवन काट !

६१ ६२ ६३ ६४
average हिंदी में हो औसत !

६५ ६६ ६७ ६८

भागी भैंस, देखी उसने लठ !

६९ ७० ७१ ७२

धीरे धीरे होते बेहतर !

७३ ७४ ७५ ७६
खुद को कभी, न समझो कमतर !

७७ ७८ ७९ ८०
कितनी प्यारी, मेरी बच्ची !

८१ ८२ ८३ ८४
नींद न पूरी, आए उबासी !

८५ ८६ ८७ ८८
हाथ में मूँह  , जो आए खांसी!

८९ ९० ९१ ९२
टॉफी लाला, की दुकान में !

९३ ९४ ९५ ९६
दोस्त आए, दोस्त के काम में !

९७ ९८ ९९ १००

गिनती ख़तम, अब खुश हो !

Friday, May 17, 2013

हिंदी फोरम और ब्लॉग एग्रीगेटर




video


करीबन ६-७ महीने पहले कुछ मित्रों ने मिल कर हिंदी फोरम बनाई थी . उसी की एक विडियो अपडेट यहाँ चिपकाई जा रही है :) 

कविताई भी जल्द ही शुरू करने का विचार है ...
Related Posts with Thumbnails