Tuesday, September 7, 2010

Bure Fase Majaal ! ( Hasya Kavita - Majaal )

दो घंटे खड़ा कराने के बाद कहतीं हैं,
'दुकान में आप हड़बड़ी कर देतें है!'

'चलो फ़ोन रखती हूँ' कहने का मतलब,
आधा घंटा और मसखरी कर लेतें है!

जिस दिन है होती उनसे बहस,
शरबत को वो कढ़ी कर देतें है!

फुर्सत गज़ब, तरकीबें अजब,
फिर से कपडे घड़ी कर लेतें है !
 
ख़ुशी की बची न कोई गुंजाईश,
सारे ग्रहों को वो शनि कर देतें हैं!

उलझ के उनसे कौन शामत बुलाए,
वो जैसा कहें, हम वहीँ कर देतें है!

बस देतें है धमकी जाने की माइके,
हसरत कहाँ हमारी पूरी कर देतें है!

यूँ करते है दूध में किफ़ायत वो  'मजाल',
सीधे दिमाग का ही वो दही कर देते हैं!

3 comments:

'उदय' said...

... bahut khoob !!!

Parul said...

:)..tooooooo gud!

arvind said...

दो घंटे खड़ा कराने के बाद कहतीं हैं,
'दुकान में आप हड़बड़ी कर देतें है!'
....ohhh...aapke sath bhi aisaa hi hota hai...

Related Posts with Thumbnails